स्टॉक मार्केट क्या है? | Stock Market Kya hai in hindi

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि स्टाक मार्केट क्या होता है (Stock Market Kya hai in hindi)? आज के समय में लोग Stock market के बारे में काफी कुछ जानना चाहते हैं कि आखिर क्या होता है स्टाक मार्केट, इससे हम पैसे कैसे कमा सकते हैं, और इससे होने वाले नुकसान क्या क्या हैं।

तो आज हम इस आर्टिकल में आपको स्टाक मार्केट से जुड़ी हुई सारी जानकारी देने वाले हैं जिसके बाद आपको Stock market को समझने में परेशानी नहीं होगी?

आज कई लोग स्टॉक मार्केट में Investment करना चाहते हैं लेकिन उनका इस बात का भी डर लगता है कि कहीं मेरे पैसे डूब ना जायें, और कई लोग आधी अधूरी जानकारी के कारण अपने पैसे स्टॉक एक्सचेंज में गवाते भी हैं।

Stock market को कई जगह पर कई नामों से जाना जाता है भारत में इसे स्टॉक मार्केट या शेयर मार्केट के नाम से हम जानते है। Share अंग्रेजी का एक शब्द होता है जिसका मतलब होता है हिस्सा, इसी तरह से किसी कंपनी के शेयर जारी किए जाते हैं जो कई हिस्सों में होते हैं।

Bombay Stock Exchange (BSE) भारत का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है, इसकी स्थापना 1875 में भारत के पहले स्टॉक एक्सचेंज के रूप में की गई थी। वहीं दूसरी है National stock Exchange (NSE) इसकी स्थापना 1992 में भारत के पहले इलेक्ट्रॉनिक स्टॉक एक्सचेंज के रूप में की गई थी।

तो चलिए दोस्तों जानते हैं कि स्टॉक मार्केट क्या होता है? ये किस तरह से काम करता है, आदि बातों को हम इस आर्टिकल के माध्यम से आप तक पहुचाने वाले हैं।

स्टॉक मार्केट क्या है?  ( what is Stock market in hindi )

Stock market

जैसा कि मैंने आपको पहले ही बताया कि शेयर का मतलब होता है हिस्सा,  Stock market में किसी हिस्से को ही शेयर कह सकते हैं।

इसका हम एक उदाहरण से समझने की कोशिश करते हैं, मान लिजिए किसी कंपनी ने 10 लाख शेयर जारी किया, और आपने उस कंपनी के 5 लाख शेयर खरीद लिया तो आपको उस कंपनी में  50% की हिस्सेदारी मिल जायेगी। और आपउस कंपनी में 50% के मालिक बन जायेंगे।

स्टॉक किसी भी कंपनी में हिस्सेदारी को बताता है, और वो व्यक्ति जब चाहे तब अपनी हिस्सेदारी बेच सकता है और दूसरे व्यक्तियों कि हिस्सेदारी खरीद भी सकता है।

सभी कंपनियों को शेयर BSE या NSE में दर्ज किया जाता है। और कंपनी के शेयर की कीमत उसके काम करने के तरीके के हिसाब से घटती, बढ़ती रहती है जैसे कि कोई कंपनी अगर अच्छा काम कर रही है तो उसके शेयर के दाम ऊपर जायेंगे, और अगर कंपनी का काम सही से नहीं हो रहा है तो उसके दाम नीचे गिरने लगते हैं।

इन सभी गतिविधियों को भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) के द्वारा संचालित किया जाता है। जो कि एक सरकारी निकाय है।

जब किसी कंपनी को Stock market में लिस्ट होना होता है तो उसको सेबी की अनुमति लेनी पड़ती है SEBI की अनुमति मिलने के बाद ही कंपनी Initial public offering (IPO) के द्वारा स्टॉक मार्केट में लिस्ट होती है। सेबी की अनुमति के बिना कोई भी कंपनी स्टॉक मार्केट में लिस्ट नहीं हो सकती है।

किसी भी कंपनी को Stock market लिस्ट होने के बहुत ही कड़े नियम और निर्देश हैं जिनका पालन करने के बाद ही कोई कंपनी शेयर मार्केट में लिस्ट होती है।

शेयर कितने प्रकार का होता है?

मुख्यतः शेयर तीन प्रकार के होते हैं जिनके माध्यम से लोग कंपनी में हिस्सा खरीदते हैं, आईये जानते हैं वो कौन कौन से प्रकार हैं :-

1- ऐसे शेयर जिनको कोई भी साधारण व्यक्ति खरीद सकता है और उन शेयरों को बेच सकता है उन्हें कॉमन शेयर कहा जाता है शेयर खरीदने का ये सबसे आसान तरीका होता है।

2- जब कोई कंपनी मुनाफे में होती है और वह अपने शेयरधारकों को पैसे के बदले कुछ शेयर देती है तो उसे बोनस शेयर कहा जाता है।

3- इसी प्रकार किसी कंपनी के द्वारा कुछ खास लोगों के लिए कुछ शेयर जारी किए जाते हैं जिन्हें Preferred Shares कहा जाता है, यह शेयर तब जारी किए जाते हैं जब किसी कंपनी को पैसे की जरूरत होती है और वह मार्केट से पैसा जुटाना  चाहती है तो इस प्रकार के शेयर जारी किए जाते हैं यह शेयर कुछ जिंदा लोगों के लिए जारी किए जाते हैं जैसे कंपनी के कर्मचारी या कोई अन्य खास व्यक्तियों के लिए।

आप Stocks कैसे खरीद सकते हैं?

Stocks खरीदने के लिए आपको किसी ब्रोकर की मदद लेनी पड़ेगी, उसके लिए आपको अपना डिमैट अकाउंट ओपन करवाना होगा, जो कि आप किसी भी ब्रोकर के माध्यम से करवा सकते हैं।

ब्रोकर के माध्यम से स्टॉक खरीदने पर बहुत फायदा होता है एक तो आपको अच्छा मार्गदर्शन मिल जायेगा कि कौन सा स्टॉक खरीदें और कौन सा नहीं और दूसरा आपको शेयर बाजार की पूरी जानकारी धीरे-धीरे मिल जाएगी।

ब्रोकर आपसे मदद करने और स्टॉक की जानकारी आदि के लिए वो पैसे या फिर स्टॉक में मुनाफे का हिस्सा लेते हैं।

> Memes बनाकर पैसे कैसे कमाए

> Startups Ideas For Students

> पढ़ाई के साथ इन 6 Skills को सीखकर आप महीने के लाखों कमा सकते हैं 

भारत में दो ही स्टॉक एक्सचेंज है, जिनके माध्यम से आप स्टॉक खरीद और बेच सकते हैं वे हैं BSE और NSE इन दोनों एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनियों के ही शेयर आप खरीद या बेच सकते हैं।

जब भी आप कोई शेयर खरीदना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको अपने डीमैट अकाउंट में पैसे जमा कराने होते हैं और जब आप किसी शेयर को बेच कर पैसे लेना चाहते हैं तो वह भी पैसे आपके डीमैट अकाउंट में ही आते हैं जिसको बाद में आप अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर कर सकते हैं, आपका बैंक अकाउंट आपके डीमैट अकाउंट से लिंक होता है जिसकी वजह से यह काम बहुत ही आसानी से हो जाता है।

बिना डीमैट अकाउंट के आप शेयर मार्केट में खरीदारी और बिकवाली नहीं कर सकते हैं।

डीमैट अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक Documents

अगर आप भी अपना डीमैट अकाउंट खोलना चाहते हैं तो आपके पास कुछ Documents होना आवश्यक है:-

• पेन कार्ड
• आधार कार्ड
• बैंक अकाउंट
• पेन कार्ड और बैंक अकाउंट नंबर दोनों ही आपके मोबाइल नंबर से लिंक होने चाहिए

अगर आप Share Market में अपने पैसे निवेश करना चाहते हैं तो अपना डीमैट अकाउंट ओपेन करें इस लिंक पर क्लिक करके आप बहुत ही आसानी से अपना डीमैट अकाउंट मात्र दो मिनट में खोल सकते हैं। Groww aap एक बेहतरीन ब्रोकर ऐप है जिसकी मदद से आप  शेयरों की खरीद कर सकते हैं। तो आज ही अपना डीमैट अकाउंट ओपेन करें।

शेयर बाजार में Trading क्या होता है?

ट्रेडिंग स्टॉक मार्केट का एक बहुत ही प्रचलित शब्द है जिसका मतलब होता है व्यापार करना लेकिन Stock market में जब हम किसी शेयर को इसलिए खरीदते हैं कि कुछ समय के बाद उस शेयर को हम बेच देंगे या कुछ समय बाद हम उस शेयर को खरीदेंगें तो उसे ही Trading कहा जाता है।

जैसे जब कोई शेयर मार्केट में कोई शेयर खरीदता है तो उस व्यक्ति का मुख्य उद्देश्य यह होता है कि जब उस स्टॉक को भाव बढ़ जाये तो उसको बेच कर वह मोटा मुनाफा कमा सके इसी लाभ कमाने के लिए खरीदे और बेेचे जाने वाले स्टॉक की प्रक्रिया को ही Trading कहा जाता है।

Trading के प्रकार? Trading कितने प्रकार की होती है?

ट्रेडिंग करने के लिए कई प्रकार होते हैं जिसमें व्यक्ति शेरों को 1 दिन, 1 हफ्ते, 1 महीने या लंबी अवधि के लिए खरीदते हैं आईये जानते हैं उनके प्रकार:-

1- Intra-day Trading

ऐसे ट्रेंड जिनको उसी दिन खरीद कर उसी दिन बेच दिया जाता है उस Intra-day Trading कहा जाता है। यानी शेयर को उसी दिन खरीद कर उसी दिन बेच दिना ही Intra-day Trading कहलाता है।

2- Swing Trading

इसमें trading की प्रक्रिया कुछ दिन , हफ़्तों या महीनों में पूरे कर ली जाते है। स्टॉक खरीदने के बाद निवेशक कुछ् समय जैसे हफ्ते या महीने तक अपने पास रखते है। उसके बाद stocks का भाव बढ़ने के बाद इंतज़ार करते है और जब सही भाव मिल जाता है। तो उसे बेच देते है।

आजकल लोगों में यह धारणा बन गई है कि स्टॉक मार्केट एक जुआ है जिसमें सिर्फ पैसे डूब जाते हैं, पर ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, यह धारणा बहुत ही गलत है जो लोगों के अंदर है जिसकी वजह से वो खुद को स्टॉक मार्केट से दूर रखते हैं और दूसरों को भी इससे दूर रहने की सलाह देते हैं।

अगर आप सही तरीके से और संयम से Stock market में अपने पैसे लगाते हैं और अच्छे शेयरों में पैसे निवेश करते हैं तो आपको बहुत ही अच्छा मुनाफा हो सकता है। लेकिन मेरी राय है कि इसमें निवेश करने से पहले आप इसके बारे में पूरी जानकारी जरूर ले क्योंकि आधी अधूरी जानकारी आपके पैसे को डूबा भी सकती है।

इसलिए सबसे पहले अपना डीमैट अकाउंट ओपेन करें और शेयर मार्केट से जुड़ी हुई चीजों को अच्छे से समझें जब आपको शेयर मार्केट की जानकारी हो जाये तभी आप अपने पैसों को इसमें निवेश करें ।

लेकिन आपको मैं ये  बात जरूर कहूंगा कि आप अपना डीमैट अकाउंट जरूर ओपेन करें तभी आप शेयर मार्केट की बारीकियों को अच्छे से समझ पायेंगे और शेयर मार्केट से अच्छा पैसा कमाने पायेंगे।

तो दोस्तों आज हमने इस आर्टिकल के माध्यम से शेयर मार्केट से जुड़ी हुई कुछ जानकारी देने का प्रयास किया है अगर आपको इससे जुड़ी कोई और भी जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बतायें।

FAQ:-

प्रश्न 1: शेयर मार्केट क्या है हिंदी में?

उत्तर: Share Market एक ऐसा बाजार होता है जहाँ पर अलग अलग बहुत सारी कंपनियों के शेयर ख़रीदे और बेचे जाते हैं. ये किसी भी दूसरे सामान्य बाजार की तरह होता है जहाँ पर जाकर लोग शेयर की खरीद बिक्री का काम करते हैं.

प्रश्न 2: शेयर कैसे खरीदे जाते हैं?

उत्तर: शेयर के खरीदने और बेचने का एक ही तरीका होता है जो कि स्टॉक एक्सचेंज में उपयोग किया जाता है, आप चाहे शेयर ख़रीदे या बैचे आपको इसके लिए demat account का उपयोग करना होगा. बिना demat account के आप न तो शेयर खरीद सकते और न ही शेयर कि बेच सकते।


Leave a Comment

FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया Nora Fatehi को उनके को-स्‍टार ने मारा थप्पड़ और उनका बाल खींचा?
FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया Nora Fatehi को उनके को-स्‍टार ने मारा थप्पड़ और उनका बाल खींचा?