startup india seed fund scheme in hindi

Startup India Seed Fund Scheme Online | Startup India Seed Fund Scheme Apply Online | Startup India Seed Fund Scheme Application Form

आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं भारत सरकार की एक ऐसी योजना के बारे में जिसका लोगों को आज के समय में काफी जरूरत है।

इस समय भारत में Startups की एक लहर सी चल रही है, Economy Survey 2021-22 की रिपोर्ट के अनुसार भारत में कुल 14000 Startup 2021 में शुरू किये गए, जिसमें से 44 यूनिकॉर्न अभी लिस्टेड हैं।

इसके अलावा विश्व में अमेरिका और चीन के बाद भारत में ही विश्व का तीसरा सबसे बड़ा Startup ecosystem है। तो इन्हीं सब बातों देखते हुए भारत सरकार ने Startup India seed fund scheme की शुरुआत की थी।

हमारे देश में बहुत से लोगों के पास बहुत ही यूनिक startup ideas हैं लेकिन उनको धरातल पर लाने के लिए resources की कमी भी होती है। तो आज के इस आर्टिकल में हम बात करने वाले हैं, कि अगर आपको भी अपने Idea को Implement करने में किसी भी प्रकार की दिक्कत आ रही है तो आपको क्या करना चाहिए।

अब ये जानने के लिए आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें तभी आप समझ पायेंगे कि आप इसका लाभ कैसे ले पायेंगे।

startup india seed fund scheme क्या है?

startup india seed fund scheme

जब से लोगों ने टीवी पर शार्क टैंक इंडिया को देखा है तो उनको भी एक सफल entrepreneur बनने की लालसा जग गई है। उनको भी ऐसा लगता है कि हम लोगों कि जैनविन परेशानी को हल करने के लिए कुछ innovative करना है, लेकिन ज्यादातर हमारे विचार वहीं पर रूक जाते हैं, क्योंकि हमें कहीं से फंडिंग नहीं मिल पाती है।

इसी परेशानी को हल करने के लिए भारत सरकार ने startup india seed fund scheme की शुरुआत की थी।

इस स्कीम में कुछ महत्वपूर्ण दिशा निर्देशों का पालन करने के बाद हम भारत सरकार से Grant या फिर लोन लेने के योग्य हो जाते हैं, भारत सरकार ने इसके लिए ₹945 करोड़ रूपये का बजट का भी प्रावधान किया है, जिसके तहत हम अपने Startup idea के लिए ₹20 लाख रूपये तक का ग्रांट और ₹50 लाख रूपये तक का Debt या लोन ले सकते हैं।

चलिए अब जानते हैं कि इस india seed स्कीम के तहत हमें किस किस चीज के लिए लोन या ग्रांट हमें मिल सकता है।

startup india seed fund scheme Criteria Of Grant and Debt (startup ideas)

सबसे पहले आपको अपने concept को Proof करना होता है, और जैसे ही आपका proof of concept Validate हो गया तो उसके बाद उसका proto type development करना होगा। आगे बढ़ने से पहले आपको बदा दें कि proto type क्या होता है?

proto type सामान्यतः आपके आईडिया का एक प्रोडक्ट होता है जोकि यह देखने के लिए बनाया जाता है कि प्रोडक्ट जैसा सोचा गया था वैसे ही काम कर रहा है या फिर नहीं, और अगर उसमें कोई गड़बड़ी आती है तो उसको दूबारा बनाया जाता है।

तो proto type बनाने के लिए भी आपको पैसे इसी स्कीम के तहत मिल जाते हैं। उसके बाद जब हम प्रोडक्ट बना लेते हैं तो उसके ट्रायल के लिए जो भी पैसे की जरूरत होती है, वो भी हमें startup india seed fund scheme के तहत ही मिल जाता है। और उसके बाद हमारा अगला लक्ष्य यह होता है कि मार्केट में इंट्री तो मार्केट में इंट्री के लिए भी हमको पैसे इसी स्कीम के तहत ही मिल जाते हैं।

> NPS (National Pension Scheme) क्या है

> Investment का सबसे बेहतरीन तरीका

Business Commercialization

मार्केट में इंट्री होने के बाद आपको आपको Business Commercialization करने की जरूरत होती है, जैसे प्रोडक्ट का Distribution, sales, Customer Support आदि चीजों के लिए भी हमें पैसा इस स्कीम से मिल जाता है।

चलिए अब जानते हैं कि इस स्कीम के लिए कौन कौन से start up योग्य होते हैं?

startup india seed fund scheme Start up Eligibility

• सबसे पहली योग्यता है कि हमारा Startup  Department for Promotion of Industry And Internal Trade से मान्यता प्राप्त होना चाहिए,

• दूसरा है जब हम startup india seed fund scheme के लिए अप्लाई कर रहे हों तो हमारी स्टार्टअप 2 साल से अधिक पुराना नहीं होना चाहिए।

• अगली योग्यता है  कि अपने राज्य सरकार या केंद्र सरकार से किसी भी प्रकार का फंड ना लिया हो जैसे कि अगर आपने किसी राज्य सरकार या केंद्र सरकार से किसी अन्य योजना के तहत  ₹10 लाख रूपये तक का फंड लिया है तो आपको startup इस स्कीम के लिए योग्य नहीं होगा।

• इसके अलावा जब भी आप इस स्कीम के लिए अप्लाई कर रहे हो तो तब तक आपके स्टार्टअप में इंडियन प्रमोटर की शेयर होल्डिंग 51% या इससे अधिक होनी चाहिए।

• हमारा बिजनेस आईडिया ऐसा होना चाहिए जो मार्केट के हिसाब से एकदम सही हो।

• हमारे प्रोडक्ट में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होना चाहिए, वैसे तो इस स्कीम में कोई भी सेक्टर को specified नहीं किया गया है लेकिन कुछ सेक्टर को सरकार ने ज्यादा फोकस किया है।

तो आपका बिजनेस किसी भी क्षेत्र का हो सकता है इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन सरकार ने जिन क्षेत्रों कि तरफ ज्यादा फोकस किया है वो हैं,

• Defense
• textiles
• Social impact
• West Management
• Water Management
• Education
• financial Services
• Agriculture
• Food processing
• Health Care
• Bio technology

अब ऐसे ही कुछ और सेक्टर स्पेसिफाइड किए गए हैं लेकिन आप इन सब के अलावा और भी सेक्टरों में अपना स्टार्टअप शुरू कर सकते हैं।

इसके साथ ही साथ इस startup india seed स्कीम के तहत हमको ग्रांट या लोन एक ही बार मिलेगा, तो एक ही बार में हम पैसे लेकर अपने स्टार्टअप को रन कर सकते हैं।

आईये अब जानते हैं कि इसमें Funding या फिर ग्रांट हमको कितना मिलेगा?

startup india seed fund scheme Amount of Grant

इसमें हमें 20 लाख तक का ग्रांट मिलता है शुरू के तीन स्टेप के लिए यानी कि

• वैलिडेशन
• प्रोटोटाइप डेवलपमेंट
• प्रोडक्ट ट्रायल

इन तीनों स्टेप के लिए हमें  ₹20 लाख का ग्रांट मिलता है, अब जैसे जैसे हमें फंड की जरूरत होगी वैसे वैसे इस 20 लाख में से हमें किस्तों में ये फंड दिये जायेंगे।

इसके अलावा 50 लाख रूपये तक का डेट हमें अगले तीन स्टेप यानी की

• मार्केट इंट्री
• Commercialization
• और बिजनेस को स्केल अप करने के लिए

₹50 लाख रूपये तक का डेट मिलेगा जैसे जैसे हमको ये तीनों कामों के लिए फंड की जरूरत होगी तो उसी के हिसाब से हमें ₹50 लाख तक का डेट मिलेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना 2022

> [ top 5 ] Startups Ideas For Students

आईये अब जानते हैं कि इस स्कीम के लिए हमको कहाँ पर अप्लाई करना होगा?

startup india seed fund scheme Apply Kaha se karein?

india seed fund में apply लिए ना हीं हमें बार-बार बैंक जाने की जरूरत है और ना ही किसी सरकारी दफ्तर में बार-बार जाने की जरूरत है।

इसके लिए सरकार ने Incubators को फंड दिये हुए हैं जो आगे हमारी मदद करेंगे, अब आप सोच रहे हैं Incubators क्या होते हैं तो चलिए आपको बताते हैं?

Incubators kya Hai

सामान्यता Incubators एक ऑर्गेनाइजेशन होती है जो कि इनोवेशन और entrepreneur को प्रमोट करते हैं ये स्टार्टअप को फंड और इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोवाइड करते हैं, जिससे कि वह अपना बिजनेस डिवेलप कर सकें।

सरकार ने इन इनक्यूबेटर्स को इंसेंटिव प्रोवाइड किए हुए हैं,  और इस स्कीम में इनक्यूबेटर्स के लिए भी कुछ एलिजिबिलिटी क्राइटेरिया बनाई गई है। अभी हम वहाँ पर नहीं जाएंगे क्योंकि हमें अभी स्टार्टअप के लिए फंड चाहिए ना कि देने हैं।

startup india seed fund scheme 2022

सरकार ने इस साल 300 इनक्यूबेटर्स को Grant दिया है जो कि 3600 एंटरप्रेन्योर को इस स्कीम के तहत उनका स्टार्टअप बनाने में मदद करेंगे।

और इसमें भी हमें लिमिट दी गई है हम अधिकतम तीन इनक्यूबेटर के लिए अप्लाई कर सकते हैं और इन्हीं तीन में से कोई एक हमें फंड इन ग्रैंड कर सकता है।

और इसके लिए हमें अप्लाई स्टार्टअप सीड इंडिया फंड के ऑफिशियल वेबसाइट पर जाकर ही करना होगा।

चलिए अब जानते हैं कि Incubators क्या देखकर हमें फंडिंग करते हैं?

Criteria Of Funding

तो सबसे पहला है हमारे आइडिया की यूनीक नेस, हमारा आईडिया ऐसा होना चाहिए जो कि लोगों की किसी प्रॉब्लम को सॉल्व कर सकें या फिर उस आइडिया की जरूरत अभी सोसाइटी में हो,  फिर देखा जाएगा कि हमारा आईडिया फीजिबल है या नहीं अगर हमारे आइडिया की फैसिलिटी होगी तभी तो इनक्यूबेटर हमको फंड देंगे।

दूसरा है कि हमारा आइडिया कितने लोगों पर इंपैक्ट डाल सकता है,  और उसमें पोटेंशियल है या फिर नहीं इसके बाद यह देखा जाता है कि आपकी आईडी को इंप्लीमेंट करने के लिए आपके पास टीम है या फिर नहीं और जो टीम है वह कितनी योग्य है।

इसके साथ ही जो सबसे जरूरी चीज है यह देखा जाता है कि आप इस फंड को किस प्रकार से यूटिलाइज करने वाले हैं।

इसके अलावा कुछ इनक्यूबेटर्स के अपने अलग-अलग क्राइटेरिया भी होते हैं जिनको फुल फिल करना आपके लिए जरूरी है।

तो अगर आपका स्टार्टअप आईडिया इन सभी क्राइटेरिया को फूल फिल करता है तो ही आप इस फंड के लिए योग्य होंगे।

तो अगर आपके पास भी कोई बिजनेस आइडिया है और आपके पास उस बिजनेस आइडिया को इंप्लीमेंट करने के लिए किसी भी प्रकार के फंड की जरूरत है तो आप startup india seed fund scheme मैं जरूर अप्लाई करें।

अगर आपको इससे संबंधित कोई अन्य जानकारी की जरूरत है तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूरत बतायें।

FAQ-

Q- स्टार्टअप इंडिया स्कीम में कितनी राशि दी जा सकती है?

 योजना के तहत 70 लाख रुपए दिए जाते हैं

Q- स्टार्टअप का मतलब क्या होता है?

कंपनी, साझेदारी या अस्थायी संगठन के रूप में शुरू किये गये उस उद्यम या नये व्यवसाय को स्टार्टअप कंपनी या स्टार्टअप कहते हैं

Q- स्टार्टअप इंडिया सीडफंड योजना के लिए गठित विशेषज्ञ सलाहकार समिति के प्रमुख कौन है?

 सरकार ने स्टार्टअप इंडिया सीड फंड योजना (Startup India Seed Fund Scheme) के समग्र निष्पादन और निगरानी के लिए एक विशेषज्ञ सलाहकार समिति का गठन किया है। 

Q- स्टार्टअप इंडिया की शुरुआत कब हुई?

आरम्भ इस कार्यक्रम का उद्घाटन 16 जनवरी 2016 को भारत के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा किया गया था।

2 thoughts on “startup india seed fund scheme in hindi”

  1. मेरे पास भारत के बड़े प्रॉब्लम का बहोत ही यूनिक और इनोवेटिव शोल्यूशन के साथ प्रॉडक्ट है,
    कृपया हमें बताएं कैसे आगे बढ़ शकता हूँ मै?
    मेरा प्रोडक्ट
    चाय,कॉफ़ी एवम सारे लिक्विड बेवरेज के यूनिक पैकेजिंग एवम सब लिक्विड डिफरंट वेरियंट टेस्ट के साथ हैं,
    उनका फ़ायदा कस्टमर को
    बिजली की जरूरत नहीँ पड़ती,
    टाइम बस 2 मिनिट का
    तुरंत गर्म
    एवम
    तुरन्त ठंडा

    Reply

Leave a Comment

FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया Nora Fatehi को उनके को-स्‍टार ने मारा थप्पड़ और उनका बाल खींचा?
FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया Nora Fatehi को उनके को-स्‍टार ने मारा थप्पड़ और उनका बाल खींचा?