Akshaya Tritiya 2022- ushering infinite auspiciousness अक्षय तृतीया – अनंत शुभ मुहूर्त

 अक्षय तृतीया 2022

Akshaya Tritiya
Akshaya Tritiya 2022


Akshaya Tritiya
देश भर में हिंदुओं द्वारा मनाए जाने वाले सबसे पवित्र और शुभ दिनों में से एक है। यह माना जाता है कि इस दिन जो कुछ भी शुरू किया जाता है हमेशा विजयी होता है। यह दिन इस प्रकार सौभाग्य, सफलता और भाग्य लाभ का प्रतीक है।

अक्षय तृतीया कब मनाई जाती है? (When is Akshaya Tritiya celebrated?)

अक्षय तृतीया Akshaya Tritiya वैशाख के भारतीय महीने के शुक्ल पक्ष के तीसरे दिन मनाया जाता है। ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार, यह अप्रैल-मई के महीने में पड़ता है। यह दिन है कि सूर्य और चंद्रमा दोनों को ग्रहों में सबसे अच्छा कहा जाता है। इस दिन को ‘अखा तीज’ के नाम से भी जाना जाता है।

अक्षय तृतीया का इतिहास (History of Akshaya Tritiya)

* पौराणिक कथाओं और प्राचीन इतिहास के अनुसार, यह दिन कई महत्वपूर्ण घटनाओं का प्रतीक है

* भगवान गणेश और वेद व्यास ने इस दिन महाकाव्य महाभारत का लेखन शुरू किया था। 

* यह दिन भगवान विष्णु के छठे अवतार भगवान परशुराम की जयंती के रूप में भी मनाया जाता है।

* इसी दिन देवी अन्नपूर्णा का जन्म हुआ था।

* इस दिन, भगवान कृष्ण ने अपने गरीब दोस्त सुदामा को धन और मौद्रिक लाभ दिया जो मदद के लिए उनके बचाव में आए थे।

* महाभारत के अनुसार, इस दिन भगवान कृष्ण ने अपने वनवास के समय पांडवों को ‘अक्षय पात्र’ भेंट किया था। उन्होंने उन्हें इस कटोरे के साथ आशीर्वाद दिया जो कि असीमित मात्रा में भोजन का उत्पादन जारी रखेगा जो उन्हें कभी भी भूखा नहीं रखेगा।

* इस दिन, गंगा नदी पृथ्वी पर स्वर्ग से उतरी।Happy Akshaya Tritiya 2022

* यह इस दिन है कि कुबेर ने देवी लक्ष्मी की पूजा की और इस तरह उन्हें देवताओं के कोषाध्यक्ष का काम सौंपा गया।

* जैन धर्म में, इस दिन को भगवान आदिनाथ, उनके पहले भगवान की स्मृति में मनाया जाता है

इसको भी पढ़े:- International Nurses Day 2022 क्यों है इस दिन का महत्व

अक्षय तृतीया के दौरान अनुष्ठान (Rituals during Akshaya Tritiya)

* विष्णु के भक्त इस दिन व्रत रखकर देवता की पूजा करते हैं। बाद में गरीबों को चावल, नमक, घी, सब्जियां, फल और कपड़े बांटकर दान किया जाता है। भगवान विष्णु के प्रतीक के रूप में तुलसी का जल चारों ओर छिड़का जाता है।Happy Akshaya Tritiya 2022

* पूर्वी भारत में, यह दिन आगामी फसल के मौसम के लिए पहली जुताई के दिन के रूप में शुरू होता है। साथ ही, व्यवसायियों के लिए, भगवान गणेश और देवी लक्ष्मी की पूजा अगले वित्तीय वर्ष के लिए एक नई ऑडिट बुक शुरू करने से पहले की जाती है। इसे ‘हलखटा’ के नाम से जाना जाता है।

* इस दिन, कई लोग सोने और सोने के आभूषण खरीदते हैं। चूँकि सोना अच्छे भाग्य और धन का प्रतीक है, इसलिए इस दिन खरीदना शुभ माना जाता है। Happy Akshaya Tritiya 2022

* लोग इस दिन शादियों और लंबी यात्राओं की योजना बनाते हैं।

* इस दिन नए व्यापारिक उपक्रम, निर्माण कार्य शुरू होते हैं।

* अन्य अनुष्ठानों में गंगा में पवित्र स्नान करना, जौ को पवित्र अग्नि में चढ़ाना और इस दिन दान और प्रसाद बनाना शामिल है।

* जैन इस दिन को अपने वर्ष भर के तपस्या को पूरा करते हैं और गन्ने का रस पीकर अपनी पूजा समाप्त करते हैं।

* आध्यात्मिक गतिविधियाँ करना, ध्यान करना और पवित्र मंत्रों का उच्चारण करना भविष्य में सौभाग्य सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है। Happy Akshaya Tritiya 2022

* भगवान कृष्ण के भक्त इस दिन चंदन के लेप से देवता को प्रसन्न करते हैं। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने पर व्यक्ति को मृत्यु के बाद स्वर्ग में पहुंचने के लिए बाध्य किया जाता है

Leave a Comment

करोड़पति बनकर होना चाहते हैं रिटायर तो ऐसे करें निवेश? FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया
करोड़पति बनकर होना चाहते हैं रिटायर तो ऐसे करें निवेश? FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया