महामारी की ओर तेजी से बढ़ता विश्व

महामारी की ओर तेजी से बढ़ता विश्व

आज दिनांक 28/03/2022 समय 9बजे  हैं और कोरोना के मरीजों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है। इससे लगभग 650000 के करीब मरीजों की संख्या का पता चल चुका है और मरने वालों की संख्या तकरीबन 29000 तक पहुँच चुका है। वहीं भारत में इसके अबतक 900 मरीज पाये गये हैं और लगभग 20 लोगों की मौत हो चुकी है, और यह आकड़ा तेजी से बढ़ रहा है।

कौन जिम्मेदार :-


विश्व में फैली इस महामारी के लिए आखिर कौन जिम्मेदार है जिसकी कीमत पूरी दुनिया के लगभग 199 देशों के नागरिकों को अपनी जान से चुकानी पड़ती रही है आखिर कौन है इसका जिम्मेदार?

इस वायरस की शुरुआत चीन के वुहान शहर से हुई है और यह भी कहा जा रहा है कि इसका पहला मामला अक्टूबर 2019 में ही आ गया था लेकिन चीन ने इस जानकारी को बताने में दो महीनों से भी ज्यादा का समय लगा दिया और तब तक इस वायरस के लिए काफी वक्त मिल चुका था इसलिए चीन को इस महामारी को फैलाने का दोषी माना जा रहा है। 

कई विशेषज्ञों का मानना है की चीन ने अपने यहाँ फैले इस वायरस को दुनिया के अन्य देशों में जाने से रोकने के लिए कोई भी उपाय नहीं किये और उसका नतीजा आज हमारे सामने है कि पीरा विश्व इस महामारी से पीड़ित हो गया है, उनका कहना है की जब यह वायरस यहाँ पे फैला तो चीन को अपने यहाँ पर सारी अन्तराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द कर देना चाहिए था ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके और दुनिया को इससे बचाया जा सके लेकिन चीन ने इस तरह की कोई कार्यवाही नहीं की और इसका नतीजा आज हमारे सामने है।
 चीन के इस कदम से विश्व के कई देश नाराज हैं। और अमेरिका में तो एक संस्थान द्वारा चीन पर केस में दर्ज कराया गया है और उससे क्षतिपूर्ति मांगी गई है।

                            इसके अलावा कई विशेषज्ञों का मानना है कि चीन की इस वायरस को फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिर ही है। चीन में अब स्थिति धीरे धीरे सुधर रही है। और वो दुसरे देशों को जरूरी सेवाएं उपलब्ध करा रहा है इससे आलोचकों का मानना है कि यह चीन का एक बिजनेस प्लान भी हो सकता है कि इस वायरस के माध्यम से वह अपनी कमजोर होती अर्थव्यवस्था को सुधार सकता है इसलिए उसने यह सब जान बूझकर किया है।-

इस महामारी का असर:-

इस वायरस का असर विश्व के तमाम देशों पर हो रहा है, जहाँ विश्व के तमाम देशों को आर्थिक क्षति का समना करना पड़ रहा है वहीं पर इससे अन्य कई समस्या उत्पन्न हो गई हैं जैसे लोगों की नौकरीयां समाप्त हो रही हैं लोग बेरोजगार हो रहे हैं भारत में यह स्थिति और भी खराब है जहाँ लोग शहरों से अपने गाँवों की तरह पलायन कर रहे हैं क्यूंकि इसकी वजह से भूखमरी जैसी समस्या भी खड़ी हो गई है। यूँ कहें तो इससे हर पैमाने पर नुकसान हो रहा है।

       भारत को इस वायरस की वजह से पहले एक दिन के लिए जनता कर्फ्यू के माध्यम से और फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 21 दिन के लिये लॉक डउन कर दिया गया। इसका मतलब यह हुआ कि किसी भी व्यक्ति को अपने घर से बाहर आने की इजाजत नहीं है सिर्फ जरूरी चीजों के लिए ही लोग बाहर आ सकते हैं, इसके अलावा पूरे भारत में सारी सेवाएं बंद कर दी गई हैं सिर्फ जरूरी सेवाएं हीं मिल पा रही हैं।

महामारी की ओर तेजी से बढ़ता विश्व



उपाय:-

इस वायरस से बचने की अभी तक कोई दवा नहीं है इस पर वैज्ञानिक काम कर रहें हैं आशा है की कुछ महीनों में इसकी दवा उपलब्ध हो सकें, इसके अलावा इससे बचने का अभी तक एक ही उपाय है लोगों को सामाजिक दूरी बनानी होगी। इसके अलावा विदेश यात्रा पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है लोगों से घरों में ही रहने की अपील की जा रही है। 

कुल मिलाकर यहा कहा जा सकता है कि इस वायरस से पूरी दुनिया जैसे रूक सी गई हो और दुनिया के तमाम देश इसका सामना अपनी पूरी क्षमता से कर रहे है। आने वाला वक्त कैसा होगा यह तो समय ही बतायेगा। 

Leave a Comment

करोड़पति बनकर होना चाहते हैं रिटायर तो ऐसे करें निवेश? FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया
करोड़पति बनकर होना चाहते हैं रिटायर तो ऐसे करें निवेश? FIFA World Cup में नोरा फतेही के साथ हुई बदतमीजी और छेड़खानी? कई देशों के GDP के बराबर है FIFA World Cup टीमों की मार्केट वैल्यू बिग बॉस के वो सदस्‍य जो लाइव शो में हुए इंटिमेट और सारी हदें पार की? तो इस कारण से अक्षय कुमार ने ‘हेराफेरी 3’ फिल्म करने से मना किया